दिमाग की शक्ति और स्मरण शक्ति आसानी से बढ़ाएं | How To increase brain memory power and boost memory | In Hindi

Spread the love

अगर हम कहें कि यह पोस्ट आपके दिमाग़ को तेज़ कर देगा तो क्या आप मानेंगे ? जी हां , अगर आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ते हैं , तो अंत में आपको कुछ ऐसे तरीकों के बारे पता चलेगा जिसको अपनाकर आप अपने दिमाग की शक्ति को कई गुना बढ़ा सकते हैं । तो ऐसे क्या तरिकें हैं जो आपके दिमाग की शक्ति को कई गुना बढ़ा सकते हैं , आज हम उन सभी तरीकों को इस पोस्ट में जानेंगे । अगर आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ते हैं तभी आपका दिमाग़ तेज़ होगा । तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें । अयिए शुरू करते हैं ।
अगर आपका दिमाग तेज़ रहता है तो आप अपने जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफल रहेंगे और आपको आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक पायेगा । पढ़ाई में भी आप टॉप पे रहेंगे और कोई भी काम आप बहुत तीव्रता से कर पाएंगे । आपको बस बताए गए तरीकों को अपने जीवन में फ़ॉलो करना है । तो आयिए उन सभी तरीकों को जानते हैं । तो हमारा पहला तरीका है —–

1 – उल्टे हाथ से ब्रश करना

जी हां , आपने सही सुना । उल्टे हाथों से ब्रश करना ताकि नए न्यूरॉन्स बने । आपको उल्टे हाथों से रोज़ ब्रश करना है । यह एक बहुत अमेजिंग फैक्ट है । बहुत सारे स्टडीज में यह पाया गया है । अब आपके मन मे आ रहा होगा की उल्टे हाथों से ब्रश करने से दिमाग को क्या फायदा होगा ? तो फैक्ट ये है कि जब भी हम कोई नया काम करने जाते हैं या नया काम करते हैं तो हमारे दिमाग में नए – नए न्यूरॉन्स कनेक्शन्स बनने लगते हैं । आप रोज़ एक ही हाथ से ब्रश करते हैं , पर जब आप अचानक से दूसरे हाथ से ब्रश करने लगते हैं तब आपका दिमाग़ अलर्ट हो जाता है और दिमाग में ढेर सारे कनेक्शन्स मजबूत होने लगते हैं । इसको करने से सिर्फ हमारे दिमाग में नए – नए न्यूरॉन्स ही नहीं बनते बल्कि हमारे दिमाग में नए – नए कोशिकाओं का भी जन्म होता है । जिससे आपके दिमाग को एक गज़ब प्रभाव पड़ता है । जब आप सामान्य हाथ के बदले दूसरे हाथ से ब्रश करने लगते हैं , मतलब अगर आप बाएं हाथ से ब्रश करते है तो आपको अब से दाहिने से ब्रश करना है और अगर आप दाहिने हाथ से ब्रश करते हैं तो आपको बाएं हाथ से ब्रश करना चाहिए । जब आप ये करना शुरू करेंगे तब आप यह महसूस करेंगे कि यह करना आपको थोड़ा मुश्किल लगेगा , आप अपने ब्रश को हिलाने के बदले , पूरे मुंह को हिलाने लग जाएंगे , पर तब भी आपको यह करते रहना है और अपनी हाथों को हिलाने की कोशिश करते रहना है । रिसर्च में पाया गया है कि जब आप रोज़ उसी हाथ से ब्रश करते हो जिससे आप पहले करते थे , इसलिए आपके दिमाग का वही एक क्षेत्र रोज़ चालू होता है , पर जब आप उल्टे हाथ से ब्रश करते हैं तब उस समय आपके दिमाग का वो भाग जागृत होने लगता है जो सामान्य तौर पर नहीं होता , इसलिए आपका दिमाग और सक्रिय होने लगता है , और यहीं पर जादू शुरू होता है । क्यूंकि जब आप सामान्य से अलग दूसरे हाथ से ब्रश करने लगते हैं । जिस कारण ये आपके क्रिएटिविटी यानी रचनात्मक शक्ति को बढ़ाने में मददगार साबित होता है ।

2- सेट योर गोल्स ( set your goals )
goals success brain power increase
ज़िन्दगी में एक अटूट मक्सत होना चाहिए :- बहुत सारे रिसर्च और स्टडीज में पाया गया है कि जब तक आपके ज़िन्दगी में कोई मक्सत होता है ,तब तक आपका दिमाग़ फूल पॉवर से काम करता है और यही वो करण है जिससे बुढ़ापे में लोगों की ब्रेन पॉवर कम हो जाती है , क्यूंकि उनके ज़िन्दगी का मक्सत पूरा हो जाता है । कुछ – कुछ बुजुर्ग लोग गोल्स रखते हैं पर ज्यादातर लोग बुढ़ापे में कोई गोल्स नहीं रखते । जब तक आप अपने ज़िन्दगी में कोई मक्सत रखते हैं , तब तक आपके दिमाग़ को कोई ना कोई सिग्नल जाते ही रहता है कि हां , इस शरीर को अभी शक्तियों की जरूरत है जिससे वो अपने मक्सत को पूरा कर सके और इसलिए यह आपकी बुद्धि को हमेशा बढ़ाने में मदद करता है । और इसके उल्टा अगर जिसका कोई मक्सत नहीं होता उसके साथ ठीक उल्टे होगा , आपका दिमाग पूरी तरह से इनेक्टिव हो सकता है और पूरी ऊर्जा के साथ कभी भी काम नहीं कर सकता । आप अपने अनुसार कोई भी गोल्स या मक्सत रख सकते हैं जैसे किसी डिग्री को लेकर , किसी सपने को लेकर इत्यादि और अपने पूरे ऊर्जा को उसी गोल्स को पाने में लगा देना चाहिए । तो जितने ही गोल्स आपके ज़िन्दगी में रहेंगी उतने ही ऊर्जा के साथ आप अपने गोल्स पर फोकस कर पाएंगे । आप अपने गोल्स पर जितने मन से लगकर काम करेंगे , आपकी ऊर्जा की स्तर उतनी ही बढ़ती ही जायेगी । और आपका दिमाग तेज़ होता जाएगा । इसलिए हर व्यक्ति को अपने जीवन में कोई ना कोई मक्सत जरूर से रखना चाहिए ।

3- डायरी लिखना ( Write your Diary )
diary brain power increase write diary
हर रोज़ आपको डायरी लिखना चाहिए यानी अपने ज़िन्दगी की लिखना चाहिए । इतिहास में जितने भी महान लोग थे वे सभी अपनी ज़िन्दगी को अपनी डायरी में लिखा करते थे । वो महान थे इसलिए नहीं लिखा करते थे , वो इन सब छोटी – छोटी बातो पर ध्यान दिया करते थे इसलिए वो महान थे । दुनिया में जितने लोग बुद्धिमान लोग हैं , उन सब में एक चीज़ समान पाया गया , रोज़ डायरी लिखना । आप चाहें तो तो एक डायरी में अपनी ज़िन्दगी को लिख सकते हैं या फिर अपने मोबाइल फोन में भी लिख सकते हैं । पूरे दिन भर में क्या हुआ उसे सोने से पहले एक बार उसे जरूर से याद करना चाहिए , हर पल को महसूस करना चाहिए । लेकिन आज कल के दौर में तो लोगों को ये भी याद नहीं रहता की आज सुबह मैंने क्या खाया था । और कोई याद करने की कोशिश भी नहीं करता क्यूंकि किसी को अंदाजा भी नही है कि यह आपके दिमाग की शक्ति और आपके दिमाग की स्मरण शक्ति को कितना बढ़ा सकता है । अगर कोई व्यक्ति रात में सोने से पहले अपने जीवन के बारे में लिखता है कि उसने उस दिन क्या किया , कल क्या किया , हर छोटी – से – छोटी बात को याद करके अगर को उसको लिखता है तो यह चीज़ आपके दिमाग को रिफ्रेश कर देता है । लिखने के बाद आपको हल्कापन महसूस होगा । अगर कुछ अच्छा होता है तो उसे भी लिखना चाहिए और अगर कुछ बुरा होता है तो उसे भी लिखना चाहिए । इतना करने से आपकी स्मरण शक्ति और भी बढ़ जाती है और आप का दिमाग धीरे – धीरे तेज़ होने लगता है । इसलिए हर व्यक्ति को अपने ज़िन्दगी की घटनाओं को अपने डायरी में लिखना चाहिए , यह आपके स्मरण शक्ति और दिमाग की शक्ति दोनों को बढ़ा देता है ।

4- काम को टालना बंद करो ( stop procastinate )
procastinate increase brain power in minutes
दुनिया में जितने भी कम बुद्धि में वाले लोग हैं , उनमें ये पाया गया है कि वो किसी भी काम को बहुत टालते हैं | काम को करने के बजाय उसे ` कल करेंगे ‘ बोल के टाल देते हैं । ये कल में जीने वाले लोग , अपने दिमाग का सबसे कम प्रतिशत ही इस्तेमाल कर पाते है । अगर आप चाहते हैं कि आपके दिमाग़ की शक्तियां बढ़ जाए । और आप असीम शक्तियों का इस्तेमाल कर पाएं । तब ये ` कल करूंगा ‘ वाले आदत को एकदम से बंद कर देना चाहिए ।बहुत से लोग सोच रहे होंगे कि यह कैसे होगा ? इसका कोई तरीका है ? इसका तरीका यह है कि जब आप किसी काम को टालते हो की चलो कल करूंगा , तब आप उस काम को एक बोझ की तरह समझते हैं और उस कम को इतना बड़ा काम बना देते हैं कि उन्हें ये कहना पड़ जाता है कि इस काम को कल से करेंगे । इस कल करूंगा से छुटकारा पाने के लिए आप एक तरकीब अपना सकते हैं । आप को जोभी कार्य करना है , उस कार्य को छोटे – छोटे हिस्सो में बांट दीजिए । इससे आपके दिमाग को लगता है कि कुछ बड़ा काम नहीं है , इसे पहले कर लेते हैं और इस कारण आप अपने एक बड़े काम को आसानी से कर लेते हैं । इस तरीके को करने से पहले आप अपने दुसरे कामों को भुला देना चाहिए और पुरी तरह से एकाग्रचित होकर उस कार्य को करना चाहिए । यह तरकीब तो ठीक है लेकिन इससे बड़ी चीज़ है कि आप कोई किसी कार्य को करने से पहले उसके पीछे की वजह को जानना चाहिए कि आप वो काम क्यों करना है ? क्या वजह है ? अगर आप पढ़ाई कर रहे हैं, तो क्यों पढ़ रहे हैं । जिस दिन से आप किसी वजह से वो काम करने लगेंगे तब आप बात को टालना कम कर देंगे और अपने काम को पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ पूरा करने की कोशिश करेंगे ।

5- वर्तमान में जिओ ( live in present moment )
live in present life dont think more about past and future
हर व्यक्ति को अपने भूत और भविष्य को छोड़कर वर्तमान में जीना चाहिए । आपको तो पता ही होगा कि ये टेंशन , स्ट्रेस , चिंता और तनाव जैसी चीज़ें ये सब कितनी बुरी चीज़े हैं । टेंशन आपके दिमाग़ के लिए एक तरह से जहर का काम करता है । टेंशन का सबसे महत्वपूर्ण कारण है , भूत कालों की चीज़ों को सोचकर दुखी होना , यानी जो हो गया या जो बीत गया है उसे सोचकर रोते रहना या फिर भविष्य में कुछ बुरा ना हो जाए इसको लेकर चिंता करना । कई शोधों में यह पता चला है कि आपके दिमाग के लिए ये दोनों ही ठीक नहीं हैं और आपके दिमाग को फूल पॉवर से काम करने में बाधाएं डालती हैं । आपका दिमाग पूरी ऊर्जा के साथ बस एक ही समय में काम करता है , और वो है वर्तमान काल में । अगर आप भूत काल और भविष्य काल की चिंता करते रहेंगे तो आप उसी में अपने आप को मस्त करते जाएंगे अगर अपने दिमाग की पूरी ताकत का इस्तेमाल करना है तो वर्तमान में जीना चाहिए मतलब वर्तमान में ही जीना चाहिए सभी को भुला के । क्यूंकि दिमाग को शक्ति वर्तमान काल में ही मिलती है । तो वर्तमान काल में जीने का प्रयास करें भविष्य और भूत को याद किए बिना ।

6- चेविंग गम चबाना ( Chewing Gum )
bubble gum increase brain power
यह थोड़ा मजाकिया लग सकता है कि चुइंग गम चबाने से भी दिमाग तेज़ होता है क्या ? तो हम आपको बता दे की चूइंग गम आपके शरीर में एक छोटा सा रोल प्ले करता है । चुइंग गम चबाने के बहुत सारे फायदे हैं । जैसे यह आपके पाचन शक्ति को बढ़ाता है , आपके दिमाग को तेज करता है , और साथ – ही – साथ आपके चेहरे को भी एक आकार में लाने का कार्य करता है जिस कारण चेहरा और भी सुंदर बन जाता है । जब आप चुइंग गम चबाते हैं तब आपके शरीर में ट्राइजेमिनल नेर्व सक्रिय होता है । ट्राइजेमिनल हमारे दिमाग का वो हिस्सा होता है जो व्यक्ति के अलर्टनेस को कंट्रोल करने का काम करता है यानी आपके जागरूकता को कंट्रोल करने का काम करता है । आप जितना जागरूक रहेंगे , आपका दिमाग जितना अलर्ट रहेगा , तो दिमाग उतनी ही तेजी से काम करेगा । चुइंग गम चबाते समय जब आपका अलर्टनेस बढ़ता है तब आपके शरीर में ज्यादा मात्रा में खून पहुंचता है । चुइंग गम आपके दिमाग में बराबर मात्रा में खून पहुंचाता है । जिस कारण हमारे दिमाग की ऊर्जा बढ़ जाती है और वो पहले से बेहतर काम करने लगती है । मुंह को चलाते रहना चाहिए और उसके लिए चुइंग गम चबाते रहना चाहिए । इसका मतलब ये नहीं कि हर समय चुइंग गम ही चबाते रहें । किसी भी चीज़ को अधिक मात्रा में प्रयोग करने पर वो नुक़सान देह साबित ही सकती है । इसलिए कभी – कभी दिन में चाबा लेना चाहिए ।

7- फोन नंबर याद रखना ( Learn Mobile no. )
mobile phone number learn brain power boost
फोन में नंबर सेव करने पर कोई मनाही नही है , पर जब आपको कोई नंबर डायल करना होता है , तब आपको कोशिश करना है कि आपको अपने फोन के कॉन्टैक्ट्स लिस्ट में ना जाना पड़े , आपको नंबर्स आपके दिमाग में याद होना चाहिए । अब आप को लगेगा कि इसमें क्या खास है । लेकिन शायद आपको इस बात का आपको थोड़ा भी अंदाजा नहीं है कि जब आप 10 अंक के नंबर्स को याद रखते हैं या याद करने लगते हैं , तो ये आपके दिमाग पर कितना प्रभाव डालता है । यह आपके मेमोरी को कई गुना तेज कर देगा । क्या आपको पता है कि आपकी याद करने की शक्ति क्यों कमज़ोर हो जाती है ? इसका जवाब है कि आप अपने मेमोरी का इस्तेमाल नहीं करते हैं इसलिए । फोन नंबर्स को आसानी से सेव कर लो बस , गणित में बस कैल्क्युलेटर इस्तेमाल कर को बस और क्या चाहिए । जब आप ऐसे ही आसानी से सब कुछ करने लगेंगे तो आपकी मेमोरी कैसे तेज़ होगी । अगर किसी मशीन को चलाया ही ना जाए तो वो ठीक से काम ही नहीं करेगी । उसको मैंटेन करना चाहिए उसमें तेल पनी देना चाहिए तभी वो मशीन आसानी से बिना किसी समस्या के चल पाएगी । और यह आज कि तकनीकी भरी दुनिया में हर व्यक्ति बस शॉर्टकट का इस्तेमाल कर रहें हैं | वो अपने दिमाग का ऑप्टिमम प्रयोग नहीं कर पा रहे । इसलिए फोन नंबर्स को याद करने की कोशिश करें जिस कारण आपका दिमाग शार्प हो जाएगा और पहले से तीव्र काम करेगा ।

8- व्यायाम करें ( Do Exercises )

व्यायाम करने का जिंक्रा हम हर बार करते हैं और इस बार भी इसका ज़िक्र जरूर करेंगे । दिमाग की स्मरण शक्ति को बढ़ाने के लिए गहरी सांस वाले व्यायाम को करना चाहिए । अपनी स्मरण शक्ति को बढ़ाने के लिए आप मेडिटेशन का भी सहारा ले सकते हैं । जब आप गहरी सांस वाले ध्यान या व्यायाम को करते हैं , तब आपके दिमाग में ज्यादा मात्रा में ऑक्सीजन जाता है जो आपके दिमाग को पवित्र और साफ रखता है और आपकी सोचने और समझने की क्षमता भी बढ़ने लगती है । ऑक्सीजन आपके लिए कितना जरूरी है इसका आपको अंदाजा भी नहीं है । हर व्यक्ति के दिमाग में कोई ना कोई टेंशन , स्ट्रेस जरूर होता है । इसका सबसे महत्वपूर्ण कारण है दिमाग में आक्सीजन कि मात्रा का बराबर ना पहुंचना । जब आप गहरी सांस लेते हैं , तब आपके दिमाग में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है और आपको कई सारे मानसिक बीमारियों से छुटकारा मिलता है और आपके दिमाग की शक्ति और भी मजबूत होने लगती है ।

ऊपर में बताए गए सारे तरीके प्रेक्टिकल हैं । अगर आप भी अपने दिमाग की शक्ति को तेज करना चाहते हैं या अपनी स्मरण शक्ति को और बढ़ाना चाहते हैं तो ऊपर दिए गए तरीकों को अपने जीवन में जरूर से अपनाएं ।

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद । यह जानकारी जानकर आपको कैसा लगा यह कॉमेंट कर के जरूर बताएं और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ।
धन्यवाद्
————————————————————————————————————————–
क्या आप जानते हैं —-
2021 में वजन बढ़ाने और मोटापा बढ़ाने के आसान तरीके
क्यों होते हैं ये लोग सफेद
शरीर का वजन कैसे बढ़ाएं ? दुबलेपन से छुटकारा कैसे पाएं

Vikash Dubey

Admin

3 thoughts on “दिमाग की शक्ति और स्मरण शक्ति आसानी से बढ़ाएं | How To increase brain memory power and boost memory | In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error

Enjoy this blog? Please share from world :)