पानी पीने का सही तरीका क्या है? Correct way to drink water -In Hindi

Spread the love

हेलो दोस्तो , आज हम बात करने वाले है पानी पीने के तरीकों पे । जैसा कि हम जानते है कि पानी हमारे लिए उतना  ही जरूरी है जितना मछली को जीवन जीने के लिए । हमारे शरीर में 60-70% पानी होता है जो हमारे शरीर के मेटाबॉलिक क्रियाओं में मदद करता है  जिसकी वजह से हम एक स्वस्थ शरीर पाते है । आज के भाग – दौड़ कि ज़िन्दगी में  हम अपनी पानी कि जरूरतों को पूरा भी  नहीं  कर पाते जिसका हमारे शरीर पे बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है । पानी हमारे शरीर के सारे अनावश्यक पदार्थो को बाहर निकालने में मदद करता है । जिसकी वजह से हम फुर्तीला और हमेशा ताज़ा महसूस करते है । अगर हमारे शरीर में पानी की कमी होने लगे तो हमे कई सारे समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे  मोटापा , चेहरे पे छाई , वजन का घटना , कब्ज़ , पिंपल्स , आंखो के नीचे काले दाग  , चेहरे पे रूखापन , अपच , जोड़ो में दर्द , रोग प्रतिरधक क्षमता का काम होना इत्यादि समस्याएं होने लगती है  जिसको लेकर हम बहुत चिंता में हो जाते है और कैस सारे दवाईयो का सेवन करने लगते है  जिसके कारण समस्या सुलझाने के बजाय समस्या और भी बढ़ने लगती है और धीरे – धीरे  यह एक बड़ी समस्या बन जाती है जिसे रोक पाना मुश्किल हो जाता है । तो इन सब से बचने के लिए आज हम उसके जड़ के बारे में बात करेंगे  । यह सब बस शरीर में पानी  के कमी से ही नहीं बल्कि शरीर में कई सारे खान पान की कमी से होता है लेकिन उसमे पानी एक सबसे बड़ी वजह है ।  पानी हमारे शरीर के सारे जरूरतों को पूरा करता है । शरीर में पानी कमी होने  पर हमे तुरंत प्यास लगती है और हम तुरंत जाके पानी पी लेते है और ये भी नी सोचते कि क्या ऐसे ही पानी पीना हमे नुकसान को नहीं करेगा ??   आज हम बात करते है कि …….

कितना पानी पीना चाहिए ?
पानी किस तरह का पीना चाहिए गरम , ठंडा, या नॉर्मल ?
पानी कब – कब पीना चाहिए ? ? इत्यादि
 हम बात करते है ….. कि 
                 दिन में  कितना पानी पीना चाहिए  ??
जैसा कि हम जानते है कि  हमे एक दिन में करीब 4से 5 लीटर पानी पीना चाहिए  । ये पानी जो हम पीते है ये हमारे शरीर के अनव्यस्यक पदार्थो को  बाहर निकाल के हमारे शरीर को गंदगी से मुक्त करता है  जिसके कारण हमारा शरीर स्वस्थ  हो जाता है और इसके कारण हमारे शरीर में पानी की कमी भी पूरी हो जाती है   और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है  और आप कभी बीमार नी पड़ते । तो अब से दिन में  कम से कम 4 से 5 लीटर पानी पीना है  और स्वस्थ रहना है ।
       पानी किस तरह का पीना चाहिए गरम , ठंडा                या नॉर्मल ??
दोस्तो जैसा की हम जानते है कि पानी हमे हमेशा नॉर्मल ही पीना चाहिए क्यों अगर हम ज्यादा ठंडा पीते है तो वो हमारे शरीर के तापमान को प्रभावित करता है  । ठंडा पानी पीने से हमारे शरीर में  कुछ ऐसा होता है को सायाद हमे बीमार कर सकता है । जब हम ठंडा पानी पीते  है तो वो हमारे शरीर में जाने के बाद हमारे शरीर को उस ठंडे पानी को अपने शरीर के तापमान के हिसाब से नॉर्मल करता है और फिर उस पानी को अपने प्रयोग में लाया है और ये करने में शरीर को बहुत मेहनत करनी पड़ती है और समय भी लगता है और कुछ समय के लिए ठंडा पानी हमारे शरीर के पाचन क्रियाओं को ठंडा कर देता है जिसके कारण हम  बीमार पड़ जाते है ।  है अगर आपको कोई समस्या है तो आप गुनगुना करके पानी पी सकते  है और  समस्या से निदान पा सकते है जैसे खाशी जुकाम बुखार में आप गरम पानी पी सकते 
 हैं लेकिन हमें हमेशा नॉर्मल पानी ही पीना चाहिए  जो को की हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक होता है ।
             पानी कब – कब पीना चाहिए ?
1- सुबह सो के उठने के तुरंत बाद बिना ब्रश किए पानी पीने के सारे शरीर के सारे एंटीऑक्सिडेंट  आपके  दस्त के द्वारा बाहर निकाल जाता है । सुबह जितना पानी पी सकत है उतना पीना चाहिए ।
2-  खाना खाने के तुरंत बाद बाद कभी भी पानी नी पीना चाहिए इससे ये होता है कि जब आप खाना खाते हा तब वह खाना पाचन में जाता है और वह उसको पचाने के लिए कई सारे एंजाइम्स  और एसिड होते है जो खाने को पचाने में मदद करते है । पानी पीने से को एंजाइम्स पानी के साथ मिल जाते है और खाना पच नी पता है ।
3-  धूप में या कहीं से आने के बााद तुरंत पानी नी पीना चाहिए इससे आपको हृदय की समस्या हो सकती है।
 इसी तरह हम आपसे विनती करते हैं कि स्वस्थ रहे और मस्त रहे 💞

Vikash Dubey

Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error

Enjoy this blog? Please share from world :)